Wednesday, June 16, 2021
Home Latest News चले गए मुग़ल-ए-आज़म की दास्तान लिखने वाले लेखक केसवानी

चले गए मुग़ल-ए-आज़म की दास्तान लिखने वाले लेखक केसवानी

 (शिब्ली रामपुरी)

फिल्मों पर कई किताबें पढ़ी है और कई लेखकों को भी मगर जो बात वरिष्ठ पत्रकार राजकुमार केसवानी के लेखन में थी वह क़ाबिले तारीफ़ थी. कोरोना से वरिष्ठ पत्रकार राजकुमार केसवानी का निधन हो गया लेकिन वह अपने पीछे जो यादगार छोड़ गए हैं वह है उनके द्वारा लिखित एक मशहूर पुस्तक दास्तान ए मुग़ल-ए-आज़म. यूं तो केसवानी साहब ने फिल्मों पर कई पुस्तकें लिखी और ऐसा नहीं कि वो फिल्म पर ही लिखते थे बल्कि उन्होंने सियासत पर भी काफी लिखा लेकिन फिल्म पर उनकी जो मजबूत पकड़ थी वह उनकी एक पुस्तक दास्तान ए मुग़ल-ए-आज़म पढ़कर साफ पता चलता है कि वह कितने काबिल शख्स थे. हमने फिल्मों पर कई लेखको और समीक्षकों को काफ़ी पढ़ा ऐसे लोगों को भी पढ़ा कि जिन्होंने कई कई किताबें लिखी लेकिन जो बात राजकुमार केसवानी के लेखन में थी वह कहीं भी नहीं मिली. राजकुमार केसवानी की पुस्तक फिल्म मुग़ल-ए-आज़म पर आधारित दास्तान ए मुग़ल-ए-आज़म काफी चर्चित रही उन्होंने इनके अलावा मशहूर शायर रूमी पर जहां ए रूमी नामक किताब भी लिखी थी.

दास्तान ए मुग़ल ए आज़म किताब की बात करें तो इस किताब में उन्होंने फिल्म कैसे बनी और इस फिल्म के निर्देशक के.आसिफ को फिल्म बनाने में किस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा और फिल्म के लिए कलाकारों का चयन करते समय भी के आसिफ ने कितनी सूझबूझ का परिचय दिया. कैसे बड़े गुलाम अली को राजी किया तो वही नौशाद साहब को फिल्म का संगीत देने के लिए कैसे मनाया और फिल्म के गीत लिखने में उन्होंने शकील बदायूनी से किस तरह से मेहनत कराई. फिल्म के फाइनेंसर शापूरजी मिस्त्री को कैसे राजी किया और फिर जब फिल्म में हद से ज्यादा पैसा लगने लगा तो आसिफ और शापुर मिस्त्री में किस तरह से रोजाना ही नोकझोंक होने लगी. इन सब बातों को राजकुमार केसवानी ने अपनी किताब दास्तान ए मुग़ल-ए-आज़म में इस तरह से लिखा है कि जैसे वह एक और मुग़ल-ए-आज़म फिल्म बनाने जा रहे हो बिल्कुल हूबहू उन्होंने मुग़ल ए आज़म फिल्म का जैसे वर्णन ही कर दिया. किताब पढ़ते समय ऐसा लगता है कि जैसे के आसिफ से लेकर फिल्म के सभी किरदार अपनी बात खुद कह रहे हैं यही खासियत वरिष्ठ पत्रकार राजकुमार केसवानी के लेखन में साफ झलकती थी. जिस समय फिल्म को 60 साल पूरे हुए थे उस समय एक मशहूर टीवी चैनल ने उनका इंटरव्यू लिया था और इस किताब के बारे में जिस तरह से बातचीत की थी और जिस अंदाज में उन्होंने इस किताब की खूबसूरती को बयान किया था वह अपने आप में काबिले तारीफ था. राजकुमार केसवानी मशहूर फिल्म मदर इंडिया पर भी एक किताब लिखने की तैयारी कर रहे थे लेकिन अफसोस कोरोना के संक्रमण की वजह से उनकी मृत्यु हो गई. राजकुमार केसवानी से बात करते समय कभी आपको यह महसूस ही नहीं होता था कि वह इतने बड़े पत्रकार थे उनमें घमंड नाम को भी नहीं था.

RELATED ARTICLES

कांग्रेस और बसपा से इंकार लेकिन छोटे दलों से गठबंधन-महत्वपूर्ण है अखिलेश यादव की ये सियासी रणनीति

(शिब्ली रामपुरी) यूपी. देश का सबसे बड़ा राज्य और विधानसभा चुनाव में एक साल से भी कम समय रह गया है तो ज़ाहिर...

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह के दिल्ली स्थित घर पर कुछ अज्ञात लोगों ने तोड़फोड़ की

दिल्ली पुलिस के डिप्टी कमिश्नर दीपक यादव ने कहा कि संजय सिंह के घर पर लगी नेम प्लेट को तोड़ने की कोशिश की गई...

मंदिर निर्माण के लिए करोड़ों लोगों से जुटाए चंदे का दुरुपयोग और भ्रष्टाचार महापाप है:कांग्रेस

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में टवीट कर कहा 'श्रीराम स्वयं न्याय हैं, सत्य हैं, धर्म हैं-उनके नाम पर धोखा...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रामपुर मनिहारान के पत्रकारों ने किया ज़िलाध्यक्ष आलोक तनेजा पर दर्ज एफआईआर का विरोध

कोतवाली प्रभारी को सौंपा ज्ञापन रामपुर मनिहारान (शिब्ली रामपुरी)ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के ज़िला अध्यक्ष आलोक तनेजा पर थाना चिलकाना पुलिस द्वारा लगाए गय झूठे एवं...

कांग्रेस और बसपा से इंकार लेकिन छोटे दलों से गठबंधन-महत्वपूर्ण है अखिलेश यादव की ये सियासी रणनीति

(शिब्ली रामपुरी) यूपी. देश का सबसे बड़ा राज्य और विधानसभा चुनाव में एक साल से भी कम समय रह गया है तो ज़ाहिर...

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह के दिल्ली स्थित घर पर कुछ अज्ञात लोगों ने तोड़फोड़ की

दिल्ली पुलिस के डिप्टी कमिश्नर दीपक यादव ने कहा कि संजय सिंह के घर पर लगी नेम प्लेट को तोड़ने की कोशिश की गई...

मंदिर निर्माण के लिए करोड़ों लोगों से जुटाए चंदे का दुरुपयोग और भ्रष्टाचार महापाप है:कांग्रेस

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में टवीट कर कहा 'श्रीराम स्वयं न्याय हैं, सत्य हैं, धर्म हैं-उनके नाम पर धोखा...

Recent Comments